बांग्लादेश : शेख हसीना चार दिवसीय दौरे पर आज भारत आई

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना चार दिवसीय दौरे पर आज भारत पहुंची। आपको बता दे कि वो अपने  चार दिनों की यात्रा के दौरान भारत में आयोजित कई कार्यक्रमों में शामिल होंगी और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को और अधिक मजबूत बनाने के विषय में चर्चा करेंगी।

बांग्लादेश : शेख हसीना चार दिवसीय दौरे पर आज भारत आई
शेख हसीना

बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना चार दिवसीय दौरे पर आज भारत पहुंची। आपको बता दे कि वो अपने  चार दिनों की यात्रा के दौरान भारत में आयोजित कई कार्यक्रमों में शामिल होंगी और दोनों देशों के बीच द्विपक्षीय संबंधों को और अधिक मजबूत बनाने के विषय में चर्चा करेंगी। वो अपने  दौरे के पहले दिन यानी कि आज नई दिल्ली में विश्व आर्थिक मंच द्वारा आयोजित भारत आर्थिक शिखर सम्मेलन में मुख्य अतिथि के रूप में भाग लेंगी।

इस यात्रा के दौरान शेख हसीना राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से मुलाकात करेंगी और 5 अक्टूबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय चर्चा करेंगी।भारत और बांग्लादेश में पिछले दिनों हुए चुनावों के बाद शेख हसीना की यह पहली भारत यात्रा है। विदेश मंत्रालय ने एक बयान में इस बात की जानकारी दी।विदेश मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया कि शेख हसीना की यात्रा के दौरान दोनों देशों के बीच कई समझौतों के अलावा, दोनों प्रधानमंत्री एक कार्यक्रम में संयुक्त रूप से तीन द्विपक्षीय परियोजनाओं का उद्घाटन करेंगे।

बता दें, 27 सितंबर को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र महासभा के 73वें सत्र के मौके पर पीएम मोदी और शेख हसीना की मुलाका हुई थी, जहां दोनों नेताओं ने आतंकवाद और हिंसा के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति को दोहराया और कहा कि दोनों देशों के बीच विश्वास पर परस्पर तालमेल के बीच सुरक्षा क्षेत्र में मजबूत संबंध बनाए जाएंगे। 

शेख हसीना की भारत यात्रा के दौरान, दोनों देशों से रोहिंग्या और तीस्ता नदी जल बंटवारे के मुद्दों की समीक्षा करने की उम्मीद की जा रही है, इसके अलावा विभिन्न क्षेत्रों में समझौते भी किए गए जाएंगे।ढाका ट्रिब्यून ने भारत में बांग्लादेश के उच्चायुक्त सैयद मुअज्जम अली के हवाले से कहा कि प्रधानमंत्री शेख हसीना और पीएम नरेंद्र मोदी निश्चित रूप से तीस्ता के साथ-साथ रोहिंग्याओं सहित विभिन्न मुद्दों पर चर्चा कर सकते हैं। मुअज़्ज़म ने कहा कि भारत इकोनॉमिक फोरम की बैठक के दौरान, दोनों देशों के बीच विभिन्न क्षेत्रों में कनेक्टिविटी, संस्कृति, तकनीकी सहयोग और व्यापार और निवेश सहित कई समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर होने की संभावना है।

उन्होंने कहा, 'अब तक यह पुष्टि की गई है कि सात से आठ समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए जाने हैं, ज्यादातर कनेक्टिविटी, सांस्कृतिक और तकनीकी सहयोग, और 5 अक्टूबर को दो प्रधानमंत्रियों की द्विपक्षीय बैठक के बाद व्यापार और निवेश। हालांकि, उच्चायुक्त ने यह भी कहा कि एमओयू की संख्या 10.Mazzem के रूप में अधिक हो सकती है, आगे कहा गया है कि बांग्लादेश के प्रधानमंत्री भी प्रमुख भारतीय निवेशकों से अधिक निवेश की मांग करेंगे।


Follow @India71