डे नाइट टेस्ट मैच में उतरेंगी पहली बार भारत और बांग्लादेश

भारतीय दौरे पर आई बांग्लादेश के लिए यह सीरीज बेहद यादगार होने वाली है। पहली बार भारत और बांग्लादेश की टीमें किसी डे नाइट टेस्ट मैच में उतरेंगी।

डे नाइट टेस्ट मैच में उतरेंगी  पहली बार  भारत और बांग्लादेश
भारतीय दौरे पर आई बांग्लादेश के लिए यह सीरीज बेहद यादगार होने वाली है।

भारतीय दौरे पर आई बांग्लादेश के लिए यह सीरीज बेहद यादगार होने वाली है। पहली बार भारत और बांग्लादेश की टीमें किसी डे नाइट टेस्ट मैच में उतरेंगी। दोनों देशों के बीच का यह ऐतिहासिक टेस्ट मैच कोलकाता का ईडेन गार्डन्स मैदान पर खेला जाना है। इस मैच से पहले बार भारत और बांग्लादेश की टीमें इंदौर के होल्कर स्टेडियम में सीरीज का पहला टेस्ट मैच खेलेगी। इस मैच के कराए जाने से पहले यहां की फ्लड लाइट्स की जांच की जा रह है। यह तय किया जा रहा है कि वह सही तरीके से काम कर रही है या नहीं ।

शहर में 14 नवंबर से होने वाला भारत-बांग्लादेश टेस्ट मैच डे--नाइट नहीं होगा, लेकिन मंगलवार को होल्कर स्टेडियम दूधिया रोशनी से नहाया नजर आया। इस सीरीज का दूसरा मुकाबला कोलकाता में खेला जाना है जिसको कृत्रिम रोशनी यानी फ्लड लाइट्स में खेला जाएगा।

आईसीसी के नियमानुसार हर टेस्ट सेंटर पर फ्लड लाइट हमेशा तैयार होना चाहिए। यदि बादल छाने या अन्य कारण से रोशनी कम होती है तो दिन में भी लाइट जलाई जाती है। शहर में पिछली बार 2016 में खेले गए भारत--न्यूजीलैंड टेस्ट के दौरान भी बारिश का मौसम था और बादल छाने से दिन में फ्लड लाइट जलाकर मैच खेला गया था।

इस बार टेस्ट का प्रसारण विशेष बग्गी कैमरा से भी होगा। यह रिमोट कंट्रोल की गाड़ी की तरह होता है और मैदान पर चलता है। इसका प्रयोग इंदौर में पहली बार होगा। मैच के दौरान स्पाइडर कैमरा भी लगेगा, जो मैदान के ऊपर से दृश्य दिखाता है। साथ ही अन्य कैमरे भी होंगे।

इंदौर के होल्कर स्टेडियम में सिर्फ एक ही टेस्ट मैच खेला गया है। यहां भारत ने न्यूजीलैंड के खिलाफ 321 रन की बड़ी जीत हासिल की थी। यह मैच अक्टूबर 2016 में खेला गया था। 


Follow @India71