जननायक जनता पार्टी ने अपना चुनाव पत्र किया जारी

चुनाव प्रचार थमने से महज दो दिन पहले जननायक जनता पार्टी ने अपना चुनाव घोषणा पत्र जारी किया।

जननायक जनता पार्टी ने अपना चुनाव पत्र किया जारी
जननायक जनता पार्टी

चुनाव प्रचार थमने से महज दो दिन पहले जननायक जनता पार्टी ने अपना चुनाव घोषणा पत्र जारी किया। हरियाणा के चुनाव को तिकोना बना रही जननायक जनता पार्टी ने बृहस्पतिवार को 160 वादों के साथ चुनाव घोषणा पत्र जारी कर दिया है। किसानों, कर्मचारियों, युवाओं और महिलाओं के कल्याण का दावा करते हुए इस चुनाव घोषणा पत्र को जनसेवा पत्र का नाम दिया गया।

जजपा संयोजक दुष्यंत सिंह चौटाला ने चुनाव घोषणा पत्र में हरियाणा की सभी नौकरियों में यहां के युवाओं को 75 फीसदी आरक्षण देने का बड़ा ऐलान किया है। जजपा ने बुढ़ापा पेंशन 5100 रुपये मासिक करने, हर 20 किलोमीटर की दूरी पर मोबाइल डिस्पेंसरी का इंतजाम करने, गांवों में शराब के ठेके बंद करने तथा किसानों को ट्यूबवेल कनेक्शन मुफ्त देने के भी कई बड़े वादे किए हैं।

चुनाव प्रचार में व्यस्त दुष्यंत चौटाला खुद तो पार्टी का चुनाव घोषणा पत्र जारी करने नहीं पहुंच सके, लेकिन जजपा के राष्ट्रीय महासचिव डा. केसी बांगड़ और चुनाव घोषणा पत्र कमेटी के संयोजक पूर्व वाइस चांसलर डा. अभय सिंह मौर्य ने चुनाव घोषणा पत्र जारी किया। इस चुनाव घोषणा पत्र में गांवों के विकास की झलक साफ नजर आती है। साथ ही महिलाओं व कर्मचारियों के साथ-साथ व्यापारियों तथा सैनिकों के कल्याण की भी चिंता की गई है। जजपा ने कर्मचारियों की समस्याओं पर खास फोकस किया है। कर्मचारियों को एचआरए एक जनवरी 2017 से देने की घोषणा का जजपा ने उनका भरोसा जीतने की कोशिश की है।

जजपा ने अपनी घोषणाओं और वादों के जरिये दलित, पिछड़ा वर्ग और वाल्मीकि समुदाय को लुभाने की पूरी कोशिश की है। जजपा ने राज्य की जनता से ऐसा कोई भी वादा नहीं किया, जो वित्तीय व तकनीकी दृष्टि से पूरा नहीं हो सकता। उनके 160 वादों पर कुल कितना खर्च आएगा, ऐसा हिसाब हालांकि जजपा ने नहीं लगाया, लेकिन डा. केसी बांगड़ ने कहा कि भाजपा सरकार की फिजूलखर्ची रोकने मात्र से हमारी घोषणाओं को पूरा करने का खर्च निकल जाएगा। बता दें कि कांग्रेस ने एक लाख 26 हजार करोड़, इनेलो ने करीब 60 हजार करोड़ और भाजपा ने 32 हजार करोड़ रुपये की घोषणाएं-वादे किए हैं।


Follow @India71