प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आसियान शिखर सम्मेलन में हुए शामिल

अपने थाईलैंड दौरे के तीसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आसियान शिखर सम्मेलन में शामिल हुए हैं। वह इस बैठक में आसियान देशों के नेताओं को संबोधित करेंगे।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आसियान शिखर सम्मेलन में हुए शामिल
अपने थाईलैंड दौरे के तीसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

अपने थाईलैंड दौरे के तीसरे दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आसियान शिखर सम्मेलन में शामिल हुए हैं। वह इस बैठक में आसियान देशों के नेताओं को संबोधित करेंगे।इससे पहले जापानी प्रधानमंत्री शिंजों आबे से मुलाकात के दौरान दोनों देशों के नेताओं ने भारत में इसी महीने के अंत में होने वाली विदेश और रक्षा मंत्रियों की 2+2 वार्ता का स्वागत किया है।

भारत के विदेश मंत्रालय ने इस बात की जानकारी दी है। जानकारी के मुताबिक दोनों नेताओं ने इस बात को लेकर सहमति जताई कि इस वार्ता से दोनों पक्षों के बीच द्विपक्षीय सुरक्षा और रक्षा सहयोग को गति प्रदान करने में मदद मिलेगी।

विदेश मंत्रालय के मुताबिक दोनों नेताओं के बीच भारत और जापानी के बीच आर्थिक सहयोग को लेकर भी चर्चाएं हुईं। इसके अलावा दोनों नेताओं ने मुंबई-अहमदाबाद हाई स्पीड रेल प्रोजेक्ट की समीक्षा और उसकी प्रतिबद्धता को लेकर भी चर्चा की गई।

बता दें, 35 वें आसियान शिखर सम्मेलन के मौके पर जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे से मुलाकात की और इसके साथ ही प्रतिनिधिमंडल स्तर की बैठक भी की।प्रधानमंत्री के साथ इस दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर, वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और अन्य कई लोग  बैठक में शामिल हुए।

वहीं पीएम मोदी ने आज दक्षिण-पूर्व एशियाई देशों के अन्य संघ (आसियान) के नेताओं के साथ बैंकॉक में सतत विकास पर दोपहर का विशेष भोज किया।

आज पीएम मोदी क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी (आरसीईपी) शिखर सम्मेलन में भी भाग लेंगे, जहाँ सदस्य देशों के नेता वार्ता की स्थिति की समीक्षा करेंगे।

पीएम नरेंद्र मोदी आज वियतनाम के प्रधानमंत्री गुयेन जुआन फुच और ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन के साथ कई द्विपक्षीय कार्यक्रमों में भाग लेने वाले हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज बैंकाक में आसियान और क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी के सम्मेलन में हिस्सा ले रहे हैं। वह आज आसियान बैठक को संबोधित भी करेंगे। इसके अलावा आसियान सदस्य देशों के राष्ट्रप्रमुखों से भी मुलाकात करेंगे और थाईलैंड के पीएम के रात्रिभोज में भी शामिल होंगे।

क्षेत्रीय व्यापक आर्थिक भागीदारी आसियान देशों, जैसे- ब्रुनेई, कंबोडिया, इंडोनेशिया, मलेशिया, म्यांमार, सिंगापुर, थाईलैंड, फिलीपींस, लाओस और वियतनाम और उनके छह एफटीए साझेदार देशों चीन, जापान, भारत, दक्षिण कोरिया, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का समूह है। इस समूह के सदस्य देशों के बीच एक प्रस्तावित मुक्त व्यापार समझौता है।

विदेश मंत्रालय में सचिव (पूर्व) ने विजय ठाकुर सिंह ने कहा कि, 'कुछ महत्वपूर्ण मुद्दे हैं जो अभी भी बकाया हैं। निष्पक्ष और पारदर्शी व्यापारिक वातावरण प्रदान करने के लिए उन्हें हल करने के प्रयास किए जा रहे हैं। ये मुद्दे हमारी अर्थव्यवस्था और हमारे लोगों की आजीविका के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं।'

बैंकॉक में चल रहे आसियान देशों की बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और म्यामांर की काउंसलर आंग सान सू के बीच भारत द्वारा म्यांमार में बनाए जा रहे सिटवे बंदरगाह के संचालन से जुड़े मुद्दों और इसके साथ ही कालाधन मल्टी-मोडल ट्रांजिट ट्रांसपोर्ट प्रोजेक्ट और सीमा सीमांकन के कुछ हिस्सों को लेकर चर्चा हुई।

प्रधानमंत्री आज 14वें पूर्वी एशिया(आसियान) शिखर सम्मेलन में भी हिस्सा लेंगे। इसके अलावा वह आसियान सदस्य देशों के राष्ट्रप्रमुखों से भी मुलाकात करेंगे और थाइ पीएम के रात्रिभोज में भी शामिल होंगे। आसियान देशों बैठक का एजेंडा पूर्वी एशिया सहयोग की भविष्य की दिशा की समीक्षा करना और क्षेत्रीय और अंतरराष्ट्रीय मुद्दों पर विचारों का आदान-प्रदान करना होगा। इस शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेने वाले सदस्य देश, पूरी दुनिया की आबादी का 54 फीसदी और जीडीपी का 58 फीसदी हिस्सा हैं।
 


Follow @India71